What is Web 2.0 and how can we rank a blog? | Web 2.0 किसे कहते हैं और इससे ब्लॉग को कैसे रैंक करायें?

Web 2.0 किसे कहते हैं और इससे ब्लॉग को कैसे रैंक करायें? What is Web 2.0 and how can we rank a blog?

नमस्कार दोस्तों, आज के बहुत ही interesting ब्लॉग में आपका स्वागत है जिसका नाम है “Web 2.0 किसे कहते हैं और इससे ब्लॉग कैसे रैंक करायें? What is Web 2.0 and how can we rank a blog?

यह term हम सब ने काफी बार सुना है लेकिन सही मायने में web 2.0 होता क्या है वो सब नहीं जानते हैं।

तो आज के इस ब्लॉग में आपको web 2.0 के बारे में बताऊंगा और यह भी बताऊंगा  web 2.0 की मदद से आप अपने ब्लॉग को कैसे रैंक करा सकते हैं। 

तो चलिए आज का ब्लॉग शुरू करते हैं – 

free ebook to earn money online

Web 1.0 क्या होता है?

इससे पहले की हम जाने की web 2 क्या होता है हम web 1.0 समझ लेते हैं। Web 1.0 का www evolution का पहला phase था। Web 1.0 का दूसरा नाम website भी है जो internet पर publicly available होते थे जिसमे internet users सिर्फ website के कंटेंट को पढ़ सकते थे। 

इससे पहले, web 1.0 में केवल कुछ content creator थे, जिनके पास अच्छी मात्रा में users content के consumers हैं।

Web 1.0 और website पर जो भी data या information show करता है उसे consumers सिर्फ पढ़ सकता है। ना ही consumer उस कंटेंट को edit कर सकता है और ना ही किसी तरह की टिपण्णी(comment) कर सकता है। 

Web 2.0 क्या होता है?

Web 2 का अर्थ है web 1.0 का updated version है। Web 2.0 शब्द 1999 में Darcy DiNucci द्वारा रखा गया था और बाद में 2004 के अंत में पहले Web 2.0 conference में Tim O’Reilly और Dale Dougherty द्वारा popularize बनाया गया था। 

Web 2 को आसान भाषा में समझाया जाए तो यह Web 1.0 को का second generation है जिसको 2.0 से denote किया है। इस generation को पिछली से काफी advance बनाया गया है। 

Web 2 में आप website owner के बनाये content या information को पढ़ भी सकते हैं और उसको edit भी कर सकते हैं। For example – Wikipedia. Wikipedia एक open source है जिसको कोई भी edit कर सकता है। 

Web 2 में आप किसी भी कंटेंट पर आप टिपण्णी कर सकते हैं। आप अपना opinion दे सकते हैं जो web 2.0 का मेरे लिए काफी अच्छा feature है। 

Web 1.0 one way connectivity देता है जिसमे आप सिर्फ कंटेंट को read कर सकते हैं लेकिन web 2.0 आपको two way communication provide करता है जिसमे आप अपना opinion भी दे सकते हैं। साथ ही यह आपको backlinks बनाने की सुविधा भी देता है इससे आप अपनी वेबसाइट को और भी websites से लिंक कर सकते हैं।    

Web 2.0 के features

  • Folksonomy 

Information का Free Classification; user को collectively classification करने और information find की अनुमति देता है (जैसे websites, images, videos या links की “tagging”)

  • Rich user experience 

Highly responsive content जो user input के लिए dynamic है (उदाहरण के लिए, user किसी image को बड़ा करने या अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए “click” कर सकता है)

  • User participation 

Evaluation, Review और online commenting के माध्यम से जानकारी site owner और site user के बीच Two-Way flow होती है। Site Users आम तौर पर दूसरों को देखने के लिए user-generated content भी बनाते हैं (उदाहरण के लिए, Wikipedia, एक ऑनलाइन encylopedia जिसके लिए कोई भी article लिख सकता है या edit कर सकता है)

  • Software As a Service 

Web 2.0 sites ने automate use की अनुमति देने के लिए APIs develop की, जैसे कि Web “App” (Software Application) 

  • Mass participation 

लगभग सभी तरह के users internet पर आ चुके हैं जिसमे कुछ professionals भी हैं और कुछ शौकिया भी हैं । और Web 2.0 की वजह से internet को access करना हर तरह के इंसान के लिए बहुत ही easy हो गया है। 

Web 2.0 के उदहारण

  • Blogs

Web 2.0 में blogging सबसे प्रचलित career option है। ब्लॉगिंग में काफ़ी niche मिल जायेंगे और उसमे से आप अपना niche चुन कर ब्लॉगिंग कर सकते हैं। अगर आपको FREE Blogging समझनी है तो आप बहुत ही आसानी से समझ सकते हैं। 

ब्लॉग्गिंग करने के लिए आपको कई सारी websiteमिल जाएँगी जहाँ पर आप FREE में वेबसाइट बना कर ब्लॉगिंग शुरू कर सकते है जैसे – Blogger, WordPress, Wix, Weebly, Strikingly, Medium Etc. 

  • Wikipedia

Wikipedia सबसे सटीक उदहारण है Web 2.0 का जिसमे कोई भी user अपना account setup कर के existing content में editing कर सकता है। 

लेकिन आपका edit किया हुआ information तभी approve होगा जब आपका content सही होगा। और उससे आप आगे चल कर अपने website का do-follow backlink भी generate कर सकते हैं।

ऑनलाइन अर्निंग करने के आसान तरीके

  • Social Media Websites 

Web 2.0 का सबसे लोकप्रिय उदहारण है Social Networking Sites. Social networking sites आपके लिए काफी ज़्यादा उपयोगी हो सकती है।  Internet की दुनिया में बहुत कम ही लोग होंगे जो social media पर ना हो। 95% internet users social media पर regular active रहते हैं। 

आप social media पर अपने blog को प्रमोट कर सकते हैं। और उससे अपनी वेबसाइट को भी लिंक कर सकते हैं जो की वो भी बैकलिंक का काम करेगा। 

Social Networking websites –

  1. Facebook 
  2. Instagram
  3. Twitter 
  4. YouTube
  5. Pinterest 

निष्कर्ष

आशा करता हूँ दोस्तों आपको मेरा ब्लॉग “Web 2.0 किसे कहते हैं और इससे ब्लॉग कैसे रैंक करायें? What is Web 2.0 and how can we rank a blog?” ज़रूर समझ आया होगा। अगर आपका किसी भी तरह का सवाल या सुझाव हो तो नीचे comment section में लिखकर ज़रूर बताएं।   

ज़रूर पढ़ें 

FAQ on Web 2.0

क्या Web 2.0 social media है?

Web 2.0 किसी भी वेब-आधारित feature को describe करता है जो user को web content में योगदान करने की अनुमति देता है। 

Web 2.0 ने सोशल मीडिया को कैसे प्रभावित किया है?

वेब 2.0 technologies के माध्यम से, user एक virtual community में user-generated content के cocreator के रूप में social media dialog में एक-दूसरे के साथ बातचीत और सहयोग कर सकते हैं।

Share on:

Digital Marketer at InfoTalks.in. Lead blogger at Digital Marketing Hindi. Love to do blogging, try and test the advanced strategies for blog growth. Passionate about Music, a singer, composer, producer, and Guitar Trainer in my spare time.

Leave a Reply