परमालिंक क्या है? | What is Permalink in Hindi?

परमालिंक क्या है? What is Permalink in Hindi?

Permalink या स्थायी लिंक एक वेब पेज का URL (address) है। इसे Permalink (स्थायी लिंक) कहा जाता है क्योंकि इसका उद्देश्य किसी पेज के पूरे जीवनकाल में अपरिवर्तित रहना है।

Permalinks आमतौर पर सरल होते हैं यानी सादे URL के रूप में उन्हें टाइप करना और याद रखना आसान होता है।

Permalink की विशेषताएं क्या हैं? Characteristics of Permalink in Hindi

आपको Permalink की विशेषताएं पता होनी चाहिए। आइए URL के संक्षिप्त परिचय के साथ शुरुआत करें।

वेब पर प्रकाशित प्रत्येक पेज में एक अद्वितीय यूनिफ़ॉर्म रिसोर्स लोकेटर (uniform resource locator) होता है और इसे सामान्य व्यवहार में URL के रूप में जाना जाता है।

URL किसी पृष्ठ के पते का प्रतिनिधित्व करता है और जब तक वेब पर पेज प्रकाशित होता है, तब तक अपरिवर्तित रहने की उम्मीद है। यही कारण है कि इसे Permalink कहा जाता है।

किसी वेबसाइट की परमालिंक संरचना (permalink structure) एक ऐसा शब्द है जो यह बताता है कि प्रत्येक पेज के परमालिंक कैसा दिखेगा।

Permalinks और Permalink structure के बीच संबंध के बारे में भ्रमित न हों और यह आपके SEO को कैसे प्रभावित करता है।

मैं इसे एक उदाहरण के साथ समझाने जा रही हूं, जैसे की https://infotalks.in/free-blog-or-paid-blog/

यहाँ आप देख सकते हैं एक Permalink में दो भाग होते हैं

1. वेबसाइट डोमेन (Website Domain)
2. पेज स्लग (Page Slug)

permalink consists of domain name and slug

पर्मालिंक कैसा दिखता है? How does Permalink look like in hindi?

वेबसाइट डोमेन में प्रोटोकॉल हो सकता है, जैसे https:// या http:// और या www।

पेज स्लग डोमेन स्लैश (/) के बाद आता है।

एक परमालिंक में अधिकतम 2083 characters हो सकते है, लेकिन आम तौर पर इसे छोटा रखना हमेशा बेहतर होता है।

SEO में Permalink का क्या महत्व है? Importance of Permalink in SEO

मूल रूप से, Permalink SEO में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। सही तरीके से चुना गया परमालिंक उस पेज या पोस्ट के सर्च इंजन की रैंकिंग बढ़ा सकता है।

आकर्षक परमालिंक्स भी आसानी से याद रह जाते हैं, जिससे ज्यादा से ज्यादा यूजर्स उस पोस्ट या पेज की ओर आकर्षित होते हैं।

मेरा विश्वास करो, एक Permalink उतना ही महत्वपूर्ण है जितना SEO में पोस्ट या पेज का शीर्षक। अधिकांश नए ब्लॉगर इस बात को अनदेखा कर देते हैं और बाद में SEO रैंकिंग पर नकारात्मक प्रभाव देखते हैं।

SEO फ्रेंडली Permalink कैसे बनाये? How to Create SEO Friendly Permalinks in Hindi

अपने Permalink SEO को फ्रेंडली रखने के लिए आपको हमेशा ध्यान रखना चाहिए। आइए हम SEO फ्रेंडली परमालिंक बनाने के सर्वोत्तम तकनीक को समझते हैं:

1. इसकी शुरुआत https . से होनी चाहिए

यह निर्दिष्ट करता है कि वेबपेज सुरक्षित है। इसका सीधा सा मतलब है कि वेब ब्राउज़र और वेबसर्वर के बीच प्रेषित कोई भी जानकारी encrypted है। Google एक सुरक्षित वेब पेज को बहुत अधिक महत्व देता है।

2. यह छोटा और वर्णनात्मक होना चाहिए

एक SEO-फ्रेंडली परमालिंक अनावश्यक जानकारी के बिना छोटा होना चाहिए, लेकिन साथ ही, यह स्पष्ट रूप से इंगित करना चाहिए कि एक पृष्ठ किस बारे में है।

उदाहरण के लिए, इन दो परमालिंक को देखें:
https://www.abc.com/what-is-blogging
https://www.abc.com/2021/12/a/d/xyz_U.html

तो, कोई भी पहले URL को देखकर आसानी से पता लगा सकता है कि यह किस बारे में है। दूसरी ओर, दूसरे URL में ऐसी जानकारी है जो उपयोगकर्ताओं या खोज इंजनों की मदद नहीं करने वाली है।

आमतौर पर परमालिंक सर्च इंजन रिजल्ट पेज यानी SERPs में दिखाया जाता है और इसलिए इसका अर्थपूर्ण होना भी जरूरी है।

3. Permalink में SEO Keywords शामिल होने चाहिए

SEO कीवर्ड वो वाक्यांश हैं जो उपयोगकर्ता किसी search engine के search bar में टाइप करते हैं।

जब आप उन शब्दों या वाक्यांशों को परमालिंक में शामिल करते हैं, तो आप सर्च इंजन को पेज के कंटेंट का एक मजबूत संकेत देते हैं। ऐसा करने से आप उन सर्च keywords पर उच्च रैंकिंग की संभावना बढ़ा देते हैं।

इतना ही नहीं आपके Permalink को देखकर विज़िटर भी उम्मीद कर सकते हैं कि वे क्या पढ़ने वाले हैं।

4. Permalink के शब्दों को डैश से अलग करना चाहिए

परमालिंक में आपको किसी स्पेशल character का उपयोग नहीं करना चाहिए और प्रत्येक शब्द को केवल “-” यानी डैश से अलग किया जाना चाहिए।

5. Permalinks हमेशा lower case में होने चाहिए

कुछ वेब सर्वर अपरकेस अक्षरों को अलग तरह से व्यवहार करते हैं, इसलिए ऐसी किसी भी समस्या से बचने के लिए हमेशा परमालिंक में lowercase का उपयोग करें।

6. Stopping Words को शामिल नहीं करना चाहिए

परमालिंक्स में किसी भी स्टॉप वर्ड्स का प्रयोग न करें जैसे a, the, and, on, is, of, you, आदि। ये सामान्य शब्द किसी पेज कंटेंट को समझने में कोई मूल्य नहीं जोड़ते हैं।

उदाहरण के लिए, कुछ सामान्य स्टॉप शब्द “ए”, “द”, “ऑन”, “और”, “है”, “ऑफ”, “यू”, और इसी तरह के अन्य शब्द।

WordPress में Permalink क्या है? What is Permalink in WordPress?

हम सभी जानते हैं कि वर्डप्रेस सबसे लोकप्रिय CMS प्लेटफॉर्म में से एक है। यह ‘permalink’ शब्द का उपयोग करने वाला पहला प्लेटफार्म है।
आपको SETTINGS के तहत ‘Permalinks Settings’ मिलेगा।

permalink settings in wordpress

आपको अपने ब्लॉग पोस्ट की URL structure सेट करने के लिए कई विकल्प मिलेंगे। यह उल्लेख करना है कि सबसे अच्छी सेटिंग “post name ” है। लेकिन इसमें कोई अनावश्यक जानकारी नहीं होनी चाहिए।

जब आप कोई नया पोस्ट पब्लिश करते हैं, तो वर्डप्रेस शीर्षक को चुनकर ‘-‘ यानी डैश से अलग करके इसे परमालिंक बना देगा। लेकिन अगर आपके टाइटल थोड़े लंबे हैं, तो आपको परमालिंक के रूप में केवल एक की-फ्रेज (key phrase) का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

ebook ad 1

अंत में

यहाँ मैं ब्लॉग “परमालिंक क्या है? What is Permalink in Hindi” को समाप्त करती हूँ।

मैंने इस ब्लॉग में कवर किया कि परमालिंक क्या है, SEO में परमालिंक का महत्व, परमालिंक की विशेषताएं, और परमालिंक को SEO के अनुकूल कैसे बनाया जाए।

मुझे आशा है की आज आपने जो सीखा है वो आपके लिए उपयोगी होगा और यदि आपके कोई प्रश्न या सुझाव हैं तो कृपया नीचे टिप्पणी करें।

अगर आप Permalink के बारे में English जानना चाहते हैं तो आप यहाँ क्लिक करें – What is a Permalink? How to Make SEO-Friendly Permalink?

जरूर पढ़े

पर्मालिंक को कैसे बदल सकते हैं? | Steps to Change Permalink in WordPress in Hindi

ब्लॉगिंग क्या है? What is blogging in Hindi 2022?

फ्री ब्लॉग कैसे बनाएं? Blog Creation for FREE in Hindi 2022

FAQs about Permalink in Hindi

Share on:

Priti is a mompreneur, blogger and digital marketer. She is a co-founder of InfoTalks. Passionate about internet marketing and love to share the same in the form of blogs.

Leave a Reply

Technical SEO क्या होता है और कैसे करें अपनी वेबसाइट का Technical SEO Google Shopping सभी E-Commerce Business के लिए जरूरी है Google Merchant Center क्या है ? WordPress Website बनाएं और घर बैठे पैसे कमाएं (Advance Level Tutorial) Create Logo for FREE in 5 Min – Free Tool with Surprise